इसरो दिसंबर 2024 में भेजेगा शुक्रयान-1, सौरमंडल के सबसे गर्म ग्रह की करेगा परिक्रमा

Spread The Love And Share This Post In These Platforms

भारत दिसंबर 2024 में शुक्र ग्रह के अध्ययन हेतु शुक्रयान-1 भेजेगा. यह यान सौर मंडल के सबसे गर्म ग्रह की परिक्रमा करते हुए अध्ययन करेगा.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने 04 मई 2022 को बताया कि देश के पास अभी भी शुक्र पर मिशन भेजने की क्षमता है. भारत दिसंबर 2024 में शुक्र ग्रह के अध्ययन हेतु शुक्रयान-1 भेजेगा. यह यान सौर मंडल के सबसे गर्म ग्रह की परिक्रमा करते हुए अध्ययन करेगा.

इसरो की बैठक में अध्यक्ष एस सोमनाथ ने बताया कि मिशन की  प्रोजेक्ट रिपोर्ट बन गई है तथा जरूरी फंड जुटा लिए गए हैं. उल्लेखनीय है कि भारत ने साल 2017 में शुक्रयान-1 मिशन की जानकारी दी थी. उन्होंने बताया, मिशन को प्रभावशाली बनाने के लिए वैज्ञानिकों से आग्रह किया है.

साल 2024 में ही क्यों चुना गया?

पृथ्वी से शुक्र औसतन 4.10 करोड़ किमी दूर है. यह दूरी सूर्य की परिक्रमा में बढ़ती-घटती रहती है. दिसंबर 2024 में शुक्र धरती के बेहद निकट होगा. इससे अंतरिक्ष यान के लिए सबसे छोटा परिक्रमा पथ तय करना संभव होगा. अगली बार ऐसा मौका साल 2031 में आएगा.

सौरमंडल का सबसे रहस्यमयी ग्रह

सौरमंडल का सबसे रहस्यमयी ग्रह शुक्र है. इसे सल्फर के बादलों ने ढका हुआ है, तो सतह पर ज्वालामुखी और लावा है. सितंबर 2020 में फास्फीन गैस मिलने का दावा वैज्ञानिकों ने किया, यह गैस सूक्ष्म-जीव भी बनाते हैं. भारतीय मिशन पृथ्वी के बाहर जीवन की पुष्टि में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है.

योजना में इन्हें शामिल किया गया है?

बता दें जिन प्रयोगों की योजना बनाई गई है, उनमें सतह प्रक्रियाओं और उथले उप-सतह स्ट्रैटिग्राफी की जांच शामिल है. इसमें सक्रिय ज्वालामुखी हॉटस्पॉट और लावा प्रवाह शामिल हैं. इसके साथ ही वातावरण की संरचना, संरचना और गतिशीलता का अध्ययन और वीनसियन आयनोस्फीयर के साथ सौर हवा की जांच शामिल है.

किन-किन चीजों पर एक्सपेरिमेंट करेगा

शुक्रयान के लिए जो एक्सपेरिमेंट प्लान में हैं, उनमें शामिल हैं- सतह की जांच करना, सक्रिय ज्वालामुखियों का पता लगाना, लावा के बहाव की जानकारी जुटाना, सतह के निचले हिस्से की परतों की जांच करना, शुक्र ग्रह के ढांचे और आकार की बाहरी एवं आंतरिक संरचना की स्टडी, शुक्र ग्रह के वायुमंडल की जांच करना तथा सौर हवाओं से शुक्र ग्रह का संबंध पता करना.

98
Created on By PawanDixit

Geography Quiz set 156 For All Goverment Exam's

Geography Quiz set 156 For All Goverment Exam's

1 / 10

DRDO ने सतह से हवा में मार करने वाली मध्यम दूरी की मिसाइल MRSAM का सफल परीक्षण
कहां से किया?
From where did DRDO successfully test-fire a medium-range surface-to-air
missile MRSAM?

This Test is Most important For All Exams , Beacuse Current Affairs is most important

2 / 10

निम्नलिखित में से कौन - सी दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी है ?
Which of the following is the highest peak in South India?

3 / 10

गारो, खासी और जयन्तिया पहाड़ियां किस राज्य में स्थित है ?
In which state are the Garo, Khasi and Jaintia hills located?

4 / 10

गिरनार पहाड़ियां कहाँ स्थित है ?
Where are Girnar hills located?

5 / 10

कार्डेमम पहाड़ी कहाँ अवस्थित है ?
Where is Cardemum Hill located?

6 / 10

पूर्वी घाट पर्वत श्रेणी का सर्वोच्च शिखर है -
The highest peak of the Eastern Ghats mountain range is

7 / 10

भारत के सबसे दक्षिणी भाग में स्थित पहाड़ियां निम्न में से कौन - सी है ?
Which of the following are the hills located in the southernmost part of India?

8 / 10

पूर्वी घाट एवं पश्चिमी घाट पर्वत श्रेणियों का सम्मिलन स्थल है -
The meeting place of Eastern Ghats and Western Ghats mountain ranges is

9 / 10

प्रायद्वीपीय भारत में उच्चतम पर्वत चोटी है -
The highest mountain peak in peninsular India is

10 / 10

निम्नलिखित में से किस पर्वतमाला को 'सह्यादी' के नाम से भी जाना जाता है ?
Which of the following ranges is also known as 'Sahyadi'?

Your score is

The average score is 48%

0%

Rate this post

Spread The Love And Share This Post In These Platforms

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *