भारतीय दण्ड संहिता अध्याय 8

Spread The Love And Share This Post In These Platforms

भारतीय दण्ड संहिता भारत के अन्दर भारत के किसी भी नागरिक द्वारा किये गये कुछ अपराध की परिभाषा व  का प्रावधान करती है। किन्तु यह संहिता  पर लागू नहीं होती।अनुच्छेद 370 हटने के बाद में भी अब भारतीय दण्ड संहिता (IPC) लागू है।

भारतीय दण्ड संहिता ब्रिटिश काल में सन् 1860 में लागू हुई। इसके बाद इसमे समय-समय पर संशोधन होते रहे (विशेषकर  होने के बाद)। औरने भी भारतीय दण्ड संहिता को ही लागू किया। लगभग इसी रूप में यह विधान तत्कालीन अन्य ब्रिटिश आदि) में भी लागू की गयी थी। लेकिन इसमें अब तक बहुत से संशोधन किये जा चुके है।

सार्वजनिक शान्ति के विरुद्ध अपराध

  • धारा 141 विधिविरुद्ध जनसमूह।
  • धारा 142 विधिविरुद्ध जनसमूह का सदस्य होना।
  • धारा 143 गैरकानूनी जनसमूह का सदस्य होने के नाते दंड
  • धारा 144 घातक आयुध से सज्जित होकर विधिविरुद्ध जनसमूह में सम्मिलित होना।
  • धारा 145 किसी विधिविरुद्ध जनसमूह, जिसे बिखर जाने का समादेश दिया गया है, में जानबूझकर शामिल होना या बने रहना।
  • धारा 146 उपद्रव करना
  • धारा 147 बल्वा करने के लिए दण्ड
  • धारा 148 घातक आयुध से सज्जित होकर उपद्रव करना।
  • धारा 149 विधिविरुद्ध जनसमूह का हर सदस्य, समान लक्ष्य का अभियोजन करने में किए गए अपराध का दोषी।
  • धारा 150 विधिविरुद्ध जनसमूह में सम्मिलित करने के लिए व्यक्तियों का भाड़े पर लेना या भाड़े पर लेने के लिए बढ़ावा देना।
  • धारा 151 पांच या अधिक व्यक्तियों के जनसमूह जिसे बिखर जाने का समादेश दिए जाने के पश्चात् जानबूझकर शामिल होना या बने रहना
  • धारा 152 लोक सेवक के उपद्रव / दंगे आदि को दबाने के प्रयास में हमला करना या बाधा डालना।
  • धारा 153 उपद्रव कराने के आशय से बेहूदगी से प्रकोपित करना
  • धारा 153 क धर्म, मूलवंश, भाषा, जन्म-स्थान, निवास-स्थान, इत्यादि के आधारों पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता का संप्रवर्तन और सौहार्द्र बने रहने पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले कार्य करना।
  • धारा 153 ख राष्ट्रीय अखण्डता पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले लांछन, प्राख्यान
  • धारा 154 उस भूमि का स्वामी या अधिवासी, जिस पर गैरकानूनी जनसमूह एकत्रित हो
  • धारा 155 व्यक्ति जिसके फायदे के लिए उपद्रव किया गया हो का दायित्व
  • धारा 156/3 उस स्वामी या अधिवासी के अभिकर्ता का दायित्व, जिसके फायदे के लिए उपद्रव किया जाता है
  • धारा 157 विधिविरुद्ध जनसमूह के लिए भाड़े पर लाए गए व्यक्तियों को संश्रय देना।
  • धारा 158 विधिविरुद्ध जमाव या बल्वे में भाग लेने के लिए भाड़े पर जाना
  • धारा 159 दंगा
  • धारा 160 उपद्रव करने के लिए दण्ड।
34
Created on By PawanDixit

Geography Quiz set 162 For All Goverment Exam's

Geography Quiz set 162 For All Goverment Exam's

1 / 10

निम्नलिखित में से किस ग्रह की परिभ्रमण गति सबसे अधिक है ?
Which of the following planets has the highest rotation speed?

2 / 10

निम्नलिखित में से किस ग्रह का अक्षीय झुकाव सबसे अधिक है ?
Which of the following planets has the highest axial tilt?

3 / 10

चन्द्रमा के सदृश दिखाई देने वाला ग्रह है -
The planet that looks like the moon is

4 / 10

सूर्य तथा पृथ्वी के निकटतम ग्रह क्रमश: कौन - से है ?
Which are the closest planets to the Sun and Earth respectively?

5 / 10

सौर मंडल का कौन सा ग्रह लगभग पृथ्वी जितना बड़ा है ?
Which planet in the solar system is almost as big as Earth?

6 / 10

सौर मंडल का सबसे गर्म ग्रह कौन सा है ?
Which is the hottest planet in the solar system?

7 / 10

निम्नलिखित में से किस ग्रह को 'पृथ्वी की बहन' कहा जाता है ?
Which of the following planets is called 'sister of the earth'

8 / 10

पृथ्वी के सर्वाधिक निकट कौन सा ग्रह है ?
Which planet is closest to Earth?

9 / 10

यूरोपवासी किस ग्रह की पूजा देवी के रूप में करते है ?
Which planet do Europeans worship as a goddess?

10 / 10

किस ग्रह को 'शाम का तारा' (Evening Star) कहा जाता है ?
Which planet is called the 'Evening Star'?

Your score is

The average score is 41%

0%

Rate this post

Spread The Love And Share This Post In These Platforms

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *